Ads (728x90)

दोस्तों के साथ शेयर कीजिये

Advertisement
यह रेसिपी दक्षिण भारतीय रेसिपी है ,इसे नाश्ते में ,दिन में कभी भी हलकी-फुलकी भूख में बनाकर खाया जा सकता है |इसे व्रत में भी खाया जा सकता है |ध्यान रहे जब हम व्रत के लिए इसे बनाये तो गेहू के आटे के जगह पर कुट्टू आटा या रामदाने का आटा लिया जाता है और सेंधा नमक प्रयोग किया जाता है |
आइये जानते है व्रत के लिए साबूदाना थालीपीठ कैसे बनाते है |
• सामग्री :-
  • साबूदाना- 1/2 कप (दो घंटे आधा कप पानी में भिगोया हुआ )
  • सिघाड़े या रामदाने का आटा- 1/2 कप
  • आलू उबले हुए – 2 मध्यम आकार के
  • मूंगफली का दान दरदरा कूटा हुआ – 1 बड़ा चम्मच
  • अदरक कसा हुआ – 1/2 चम्मच
  • घी- परांठे सेकने के लिए
  • हरी कटी धनिया की पत्ती- 2 चम्मच
  • हरी मिर्च बारीक़ कटी हुई – 2
  • जीरा- 1/2 चम्मच
  • कालीमिर्च चूर्ण -1/4 चम्मच
  • सेंधा नमक – 3/4 चम्मच
• विधि :-
साबूदाने को धोकर दो घंटे के लिए आधा कप पानी में भिगो दीजिये |
इसे छानकर अलग रख लीजिये |
उबले आलू को कद्दूकस कर लीजिये |
अब आटा,साबूदाना,आलू (कद्दूकस किया हुआ) ,हरी मिर्च ,अदरक ,नमक,जीरा,काली मिर्च चूर्ण ,धनिया की पत्ती ,मूंगफली के
दाने(दरदरे )मिला लीजिये |
सभी सामग्री को मिलाकर बिना पानी डाले अच्छी तरह गूथ लीजिये |
गैस पर तवा गर्म कीजिये |
एक पारदर्शी पॉलीथिन ले लीजिये ,इस से थालीपीठ बनाने में आसानी होती है |
पॉलीथिन को चकले पर बिछाकर ऊपर से घी लगा लीजिये |
मिश्रण को आठ सामान भाग में तोड़ लीजिये |
एक भाग लीजिये ,हथेली की सहायता से गोल करके पॉलीथिन पर रख दीजिये |
इसके ऊपर भी थोड़ा घी लगाकर पॉलीथिन को मोड़ते हुए पीठी को ढक कर उँगलियों की सहायता से तीन-चार इंच की व्यास तक फैला लीजिये |
पॉलीथिन की ऊपर से बेलन की सहायता से भी पीठी को फैलाया जा सकता है|आप इच्छनुसार तरीका अपना सकती हैं |
अब तैयार पीठी के ऊपर से पॉलीथिन हटा कर पीठी के निचे हथेली लगाए |
इसे उठाकर तवे पर सेकें |
हल्का ब्राउन चित्ती आने तक सेकने के बाद उतार लीजिये |
इसी तरह बाकी थालीपीठ भी तैयार कर लीजिये |
इसे व्रत में दही के साथ गरमा -गरम परोसे|
Advertisement

शेयर कीजिये : Comment Now

loading...

यहाँ अपना कमेंट करें -

एक टिप्पणी भेजें