Ads (728x90)

दोस्तों के साथ शेयर कीजिये

Advertisement





मिर्च का आचार सभी को अच्छा लगता है लेकिन कई बार इसके तीखेपन की वजह से हम इसके स्वाद का मज़ा नहीं ले पाते. ऎसे में मठा की हरी मिर्च का आचार बनाएं. इसे मठा में भिगो कर बनाया जाता है. इससे ये खट्टी हो जाती हैं और इनका तीखापन भी खत्म हो जाता है.
मठा कि हरी मिर्च का आचार बेहद स्वादिष्ट बनता है और ये बिलकुल भी तीखा नहीं होता. इसे बच्चे भी आराम से खा सकते हैं.

ज़रूरी सामग्री:
  • हरी मिर्च मोटी अचार वाली - 500 ग्राम
  • मठा -  1 -1.5 लीटर (जिसमें मिर्च डुब सकें)
  • नमक - 50 ग्राम ( 2 टेबल स्पून)
  • पीली सरसों - 4 टेबल स्पून (पाउडर)
  • सोंफ पाउडर- 2 टेबल स्पून
  • मैथी - 1 टेबल स्पून
  • हल्दी पाउडर - 1 टेबल स्पून
  • हींग - 1/6 छोटी चम्मच
  • जीरा - 2 छोटी चम्मच
  • नीबू - 2 (रस निकाल लीजिये)
  • सरसों का तेल - 2 टेबल स्पून
बनाने की विधि:
बाज़ार से आचार वाली मोटी हरी मिर्च ले आएं. इसे साफ़ पाने से 2 बार अच्छे से धो कर सुखा लें.
मठा आप डेरी से ला सकते हैं. आप चाहें तो घर पर ही दही को मथ कर इसमें चार गुना पानी मिला कर मठ्ठा तैयार कर लें.
कांच या प्लास्टिक के एक कंटेनर में मिर्चों को भर लें. अब इनमें मठा डाल कर इन्हें मठ्ठा में डुबा दें. कंटेनर को धूप में रख दें. 3-4 दिन में ये मिर्चें पीली होने लगेंगी. इन्हें 2 दिन में 1 बार चम्मच से हिला ज़रूर दें.
अगर मिर्चें पीली और नरम होने लगी हैं तो इन्हें मठा से निकाल लें. अब इन्हें साफ़ पानी से अच्छे से धो लें ताकि इन पर मठ्ठा लगा ना रह जाए.
एक साफ़ और सूखा कपडा़ बिछा कर मिर्चों को उस पर धूप में डाल कर फ़ैला दें. सुबह से शाम तक, 1 दिन की धूप ही इनके सूखने के लिए काफ़ी है. जब मिर्चें सूख जाएं तो इनमें एक तरफ़ उरप से नीचे तक लंबाई में कट लगाएं. लेकिन दूसरी तरफ़ से मिर्चें जुडीं रहनी चाहिएं.
मिर्च का मसाला तैयार करने के लिए हींग, जीरा और मेथी को दरदरा पीस लें. पीली सरसों काफ़ी जल्दी पिस जाती है, इसलिए इसे अलग से पीस लें. पिसे हुए सारे मसाले, नमक, हल्दी पाउडर, नींबू का रस और तेल डालकर सबको मिला लें.
तैयार मसाले को कट लगाई हुई मिर्चों में भर लें. इनमें इतना मसाला भरें कि ना तो ये खाली रहें और ना ही मसाला बाहर आए. अगर आप चाहते हैं कि आचार ज़्यादा समय तक चले तो इक प्याली में 4 चम्मच सरसों का तेल लेकर, मसाले भरी एक-एक मिर्च को इसमें डुबा कर कंटेनर में भर लें. 4-5 दिन में ये आचार स्वादिष्ट होकर तैयार हो जाएगा. आप इसे 6 महीने तक आराम से खा सकते हैं.

ध्यान दें:
अगर मिर्च का आचार या कोई भी रेसीपी बनाते समय आपको हाथों पर जलन महसूस हो तो जलन वाली जगह पर दही लगा लें. ये मिर्च के तीखेपन को तो दूर करती ही है साथ ही मिर्च की जलन को भी खत्म कर देती है.
Advertisement

शेयर कीजिये : Comment Now

loading...

यहाँ अपना कमेंट करें -

एक टिप्पणी भेजें